Poem on Brother in Hindi Language भाई पर कविता ब्रदर पोएट्री इन हिन्दी लैंग्वेज

poem on brother in hindi language – poem on elder brother in hindi – poem for brother in hindi – भाई पर कविता – poem on bhai dooj in hindi – भाई पर पोएम इन हिंदी – ब्रदर पोएट्री इन हिन्दी लैंग्वेज
  • Poem on Brother in Hindi Language – भाई पर कविता
  • मेरे प्यारे भाई

    हर ख़ुशी में हर गम में साथ हो
    भाई तुम पापा के सर का ताज हो
    बहनों की खुशियों का तुम ही तो इक राज हो
    तुम हीं तो इस रक्षा बंधन की लाज हो
    दिखने को पत्थर से कठोर दिखते हो
    अपनों पर मुसीबत अाने पर मोम जैसे पिघलते हो
    ना जाने बिन कहे मन की बात कैसे जान लेते हो
    हमारी परेशानियों को हमेशा अपना मान लेते हो
    करते थे  हम दोनो साथ मिलकर हमेशा मस्ती
    सब हो जाते थे खुश हमे देखकर हमेशा  हँसते
    जब भी तूने मुझे रुलाया है सबने मुझे रोते देखा है
    पर विदाई में सिर्फ मैंने तुझे सबसे छुपकर रोते देखा है
    वादा करते हैं ना करेंगे तम्हे कभी निराश
    तुम सदा सलामत रहो भगवान से है यही इक अास
    – radhika birkad

  • mere pyaare bhaee

    har khushi me har gham me saath ho
    bhaee tum paapa ke sar ka taaj ho
    bahano kee khushiyon ka tum hee to ik raaj ho
    tum hee to is raksha bandhan kee laaj ho
    dikhane ko patthar se kathor dikhate ho
    apano par museebat aaane par mom jaise pighalate ho
    na jaane bin kahe man kee baat kaise jaan lete ho
    hamaaree pareshaaniyau ko hamesha apana maan lete ho
    karate the ham dono saath milakar hamesha masthee
    sab ho jaate the khush hame dekhakar hamesha hasate
    jab bhee toone mujhe rulaaya hai sabane mujhe rote dekha hai
    par bidhaee me sirph maine tujhe sabase chhupakar rote dekha hai
    vaada karate hai na karenge tamhe kabhee niraash
    tum sada salaamat raho bhagavaan se hai yahee ik aaas
    – radhika birkad