छोटी रेखा | Small Line – Akbar Birbal Stories

Small Line - Akbar Birbal Stories

एक दिन बादशाह अकबर ने अपने मंत्रियों के सामने एक अजीब सी पहेली प्रस्तुत की.

एक लाइन खींची गई और बादशाह ने पूछा क्या आप में से कोई इस लाइन को बिना हाथ लगाए छोटा कर सकता है?

मंत्री आपस में बात करने लगे की इस रेखा को बिना हाथ लगाए कैसे छोटा कर सकते हैं? आज बादशाह को क्या हो गया है?

उसी वक्त बीरबल वहां आते हैं और कहते हैं जहांपनाह मैं यह कर सकता हूं.

बादशाह कहते हैं – ठीक है बीरबल, अब इस रेखा को छोटा करके दिखाओ.

बादशाह की खींची रेखा के समीप बीरबल एक उससे बड़ी रेखा खीच देते हैं और कहते हैं – देखा जहांपनाह आप की रेखा छोटी हो गई है.

बादशाह ने यह देखकर बहुत खुश होते हैं और कहते हैं बहुत अच्छा बीरबल. तुम्हारी बुद्धिमता पर मुझे नाज है.

नोट: अकबर बीरबल की कहानियों का संग्रह पढने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे.

 → Akbar Birbal Stories in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here