Lifehacks

समय प्रबंधन Time Management in Hindi for Students and Professionals

time management in hindi

किसी ने सत्य ही कहा है – यदि आप समय को नष्ट करोगे तो 1 दिन समय आपको नष्ट कर देगा। किसी काम को समय पर करने के अपने लाभ है। इससे हम कार्य को समय पर पूरा तो हो ही जाता हैं। इसी के साथ हमें निश्चित किए गए लक्ष्यों को पाने में भी आसानी होती है। वहीं दूसरी ओर समय को नष्ट करने से काम बिगड़ते चले जाते हैं और हम अवसाद में तनाव व तनाव की स्थिति में आ जाते हैं।

समय को रोकना आज तक किसी के लिए भी संभव नहीं हुआ। हम सभी के पास 24 घंटे हैं और उसी के अनुसार हमें अपने टाइम को मैनेज करना होता है और सभी काम निपटाने होते हैं। हम में से कई लोग टाइम मैनेजमेंट स्किल्स सीखने के लिए कोचिंग ज्वाइन करते हैं, किताबें पढ़ते हैं, कोई ऐप यूज करते हैं या फिर एक पेपर पर कोई टाइम मैनेजमेंट शीट बना लेते हैं। लेकिन अपने दिल पर हाथ रखकर बताइए क्या इन सब चीजों से आप अपना टाइम मैनेज करने में सफल हुए?

इसका उत्तर बहुत सरल है। आपने अब तक टाइम मैनेजमेंट के बारे में जो भी पढ़ा या सीखा है, वह एकदम बेकार है क्योंकि वह आपके लिए काम नहीं करता। इसलिए हम आपके साथ टाइम मैनेजमेंट की कुछ ऐसी टिप्स शेयर कर रहे हैं जो कि आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होंगीं।

Time Management Tips in Hindi समय प्रबंधन पर लाभकारी टिप्स

1. एक शेड्यूल बनाएं और एक सप्ताह के लिए अपने सभी विचार, वार्तालाप और गतिविधियों को रिकॉर्ड करें। इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि आप एक दिन के दौरान कितना काम कर सकते हैं और आपका बहुमूल्य समय कहाँ लग रहा हैं। आप देखेंगे कि वास्तव में परिणाम लेने में कितना समय बिताया गया है और अनुत्पादक विचारों, वार्तालापों और कार्यों पर कितना समय व्यर्थ हुआ है।

2. आपकी सफलता के लिए ज़रूरी किसी भी गतिविधि या वार्तालाप को एक निश्चित समय दिया जाना चाहिए। टु-डू सूचियां उस बिंदु तक लंबी और लंबी होती हैं, जहां वे कामयाब नहीं हो पाती। यहाँ पर अपॉइंटमेंट बुक आपके काम आ सकती हैं। स्वयं के साथ अपॉइंटमेंट शेड्यूल करें और उच्च प्राथमिकता वाले विचारों, वार्तालापों और कार्यों के लिए निश्चित समयावधि तय करें। यह नोट करें की वे कब शुरू और ख़त्म हुए। इन appointments में अनुशासन रखें। उत्पादक (productive) कामों के लिए अपॉइंटमेंट्स सेट कर देने पर आपको एक निश्चित समयांतराल में ही उन्हें पूरा करना होगा। जिससे आपका समय बचेगा और जरुरी कामो को आपको आगे-पीछे नहीं खिसकाना पड़ेगा।

3. अपने समय का कम से कम 50 प्रतिशत ऐसे विचार, क्रियाकलापों और वार्तालापों में लगायें जो आपको वांछित परिणाम दे सकें। इससे ही आप अपने कार्य में सफल हो पाएंगे।

4. अपने दिन की योजना बनाने के लिए हर दिन पहले 30 मिनट का समय लें। अपना दिन तब तक शुरू न करें जब तक कि आप अपना समय पूरी तरह schedule नहीं कर लेतें। आपके दिन का सबसे महत्वपूर्ण समय वह समय होता है जब आप समय को शेड्यूल करते हैं।

5.  प्रत्येक कॉल और काम करने के पांच मिनट पहले ले सोचें कि आप क्या परिणाम प्राप्त करना चाहते हैं? यह आपको जानने में मदद करेगा कि आपके काम का अंतिम परिणाम का स्वरुप कैसा होगा? यह निर्धारित करने के लिए कि आपको इच्छित परिणाम प्राप्त हुए है या नहीं, प्रत्येक कॉल और गतिविधि के पांच मिनट analysis करें। यदि नहीं, तो सोचिएं क्या बाकि रह गया? उस कमी तो दूर कीजिये और वापस इसी प्रोसेस को रिपीट किजीए।

6. जब आप काम कर रहे हो तो अपने कमरे के बहार “Do not disturb” का साइन लगा दें।

7.  काम करते समय फ़ोन बज रहा हैं इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है की आपका उसका जवाब दें और ई-मेल सिर्फ इसलिए चेक करें की वो पॉप-अप में दिख रहा हैं। इंस्टेंट मैसेजिंग को डिस्कनेक्ट करें और लोगों पर तब तक ध्यान न दें, जब तक कि मानव प्रतिक्रिया देना आपके व्यवसाय के लिए बिल्कुल महत्वपूर्ण न हो। इसके बजाय, ईमेल का उत्तर देने और return कॉल करने के लिए समय निर्धारित करें।

8. फेसबुक और सोशल मीडिया के अन्य रूप जैसे किसी भी माध्यम को ब्लॉक कर दें, जब तक कि आप इन उपकरणों का इस्तेमाल व्यवसाय के लिए न करें।

9. याद रखें कि सब कुछ करना असंभव है। यह भी याद रखें कि आपके विचारों, वार्तालापों और गतिविधियों का 20 प्रतिशत आपके परिणाम का 80 प्रतिशत उत्पादन करते हैं तो उन्हें बड़े ही ध्यान पूर्वक चुनें।

आपको हमारी यह पोस्ट Time Management in Hindi कैसे लगी? यदि आपने इसमें कुछ भी नया सीखा हो तो हमें कमेंट करके बताएं उन्हें अपने जीवन में उतारे तथा उसे होने वाले बदलावों को हमारे साथ शेयर करें. Time Management in Hindi के जैसे और भी पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहिए.

Related Terms: Time Management in Hindi, time management tips in hindi, time management in hindi language

अन्य महत्वपूर्ण लेख:

Leave a Comment